15+ Lovely Hindi Prem Kavita With Images

Published by Rutha Aashiq on

lovely hindi prem kavita

Desi ruthaaashiq “hindi prem kavita” ke zamaane ka chaahak hai….🖊️ Zamaana chaahe jitna aage badh jaaye, chaahe paper less ho jaaye, lekin “hindi love poem” ko greeting banakar dene jaisi romantic cheez hamesha wesi hi rahegi…Hum aksar sochte hai “Poem for girlfriend in hindi” ladke likhte honge aur ladkiyo ko bhejte honge…Lekin ese thodi na hai ke ladkiyo ko pyaar nahi hota?? Wo bhi toh love poems in hindi for boyfriend search karti hongi aur deewani so baate karti hongi…

Lovely Hindi Prem Kavita

Hindi Prem Kavita

Ishq, Mahobbat ki baat ho aur hindi prem kavita ki baat na ho esa ho hi nahi sakta, agar aap bhi karte ho kisi se pyar aur aap abhi tak aapne yeh kavita nahi share ki unke saath to jaldi se padhiye aur apni man pasand hindi prem kavita unke saath share kijie.

आपकी मासूमियत – Aapki Maasoomiyat

आपकी मासूमियत का कोई जवाब नही,
और इस कदर आपसे मोहबत्त हुई,
की कोई हिसाब नही…
Aapki maasoomiyat ka koi jawaab nahi,
Aur iss kadar aapse mohabbat hui,
Ki koi hisaab nahi…

और तेरी नीगाहो ने मानो मेरे दिल का,
कतल कर दिया किसी पे मर के कैसे जीते है।
Aur teri nigaaho ne maano mere dil ka,
Katal kar diya kisi pe mar ke kaise jeete hai…

आज तेरी एक मुसकुराहट ने बता दिया,
की यूँ तो हर पल जलदी कटता नही।
Aaj teri ek muskurahat ne bataa diya,
Ki yun toh har pal jaldi katta nahin…

पर जबसे तेरा दिदार हुआ है,
मानो मेरे लिए समय बचता नही।
Par jabse tera deedar hua hai,
Maano mere liye samay bachta nahin..

और मेरे हर आने वाले पल को बस तेरी,
ख्वाहिश होती है पर जिस पल में भी,
Aur mere har aanewale pal ko bas teri,
Khwaish hoti hai par jiss pal me bhi,

तू ना मिली जानेमन उस पल में दूर दूर तक,
खुशियो का भी आगाज़ नही।
Tu na mili jaaneman uss pal me door door tak,
Khushiyo ka bi aagaaz nahin…

और जानेमन आप पूछती हो कि,
हम आपसे मोहबत्त कितना करते है।
Aur jaaneman aap poochti ho ki,
Hum aapse mohabbat kitna karte hai..

तो यार अब हमें माफ़ ही करदो,
क्यों की हम अपने,
Toh yaar ab hume maaf hi kar do,
Kyon ki hum apne,

मोहबत्त को बया कर सके,
हमारे पास इतने भी अलफ़ाज़ नही ।।
Mohabbat ko bayaan kar sake,
Humaare paas itne bhi alfaaz nahin..

Writer:- YASHARSH KIYAN

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

यादें – Yaadein

यूं तो मैं सांझ को तेरी राह बांटती रही,
बस खुशी इस बात की तुझे हर पल याद करती रही।
Yun toh main saanj ko teri raah baatti rahi,
Bas khushi iss baat ki tujhe har pal yaad karti rahi…

हां मुझे उम्मीद है तेरे से,
तू नहीं पीड़ा देगा मुझे।
Haan mujhe umeed hai tere se,
Tu nahin peeda dega mujhe..

बस तेरे प्रेम की मैं इच्छा करूं,
बिना पीड़ा के तू मुझे इश्क करें।
Bas tere prem ki mai ichcha karu,
Bina peeda ke tu mujhe ishq karein…

यही उम्मीद के साथ,
इस खुशी को ज़ाहिर करू।
Yahi umeed ke saath,
Iss khushi ko jaahir karu…

इस सांझ को और रोशनी से रंगीन करू,
तेरे प्रेम के लिए दर-दर की ठोकरें ना खाएं फिरू।”
Iss saanj ko aur roshni se rangeen karu,
Tere prem ke liye dar-dar ki thokre na khaaye firu..

Writer:- Sakshi Jain

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

हवा बनकर तेरा साथ चाहिए,
दूर हूं तुझसे, तू पास चाहिए…
Hawa bankar tera saath chahiye,
Door hoon tujhse, tu pass chahiye…

परेशानियों में घिरे जब कभी,
तेरा मुझ पर विश्वास चाहिए…
Pareshaaniya me ghire jab kabhi,
Tera mujhpar vishwas chahiye…

हकीकत में मुमकिन नहीं,
मुझे सपनों ने तेरा हाथ चाहिए…
Haqiqat me mumkeen nahin,
Mujhe sapno ne tera haath chahiye…

आशियाना संजोया है ख्वाबों में,
उसमें मुझे तू अपने साथ चाहिए….
Aashiyaan sanjoya hai khwaabo me,
Usme mujhe tu apne saath chahiye…

निहारना चाहता हूं तुझे दिन रात,
इन आंखों में तेरा ख्वाब चाहिए…..
Nihaarna chaahta hoon tujhe din raat,
Inn aankho me tera khwaab chahiye…

ना टूटना ना बिखरना कभी,
इंतेज़ार की एक आस चाहिए…
Naa tootna na bikharna kabhi,
Intezaar ki ek aas chahiye..

रस्म ए मोहब्ब्त अदा करेंगे हम,
मेरे प्रेम पर तेरा विश्वास चाहिए…
Rasm ae mohabbat ada karenge hum,
Mere prem par tera vishwaas chahiye..

तेरा साथ तेरा प्यार तेरा दीदार,
मेरे यार मुझे बस तू चाहिए।।”
Tera saath tera pyaar tera deedaar,
Mere yaar mujhe bas tu chahiye.

Writer:- Nikhil Jain

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

जब वो निकले तो चाँदनी शर्माए
हँस दे अगर तो कलियाँ जल जाये…
खोलें जो जुल्फें तो घटा सी छा जाती है.
बारिश भी तो उसके कहे से आती है…
Jab wo nikle toh chandni sharmaaye,
Hans de agar toh kaliya jal jaaye…
Khole jo zulfe toh gataa si chaa jaati hai..
Baarish bhi toh uske kahe se aati hai…

रंगत उसकी परियों सी ढली है..
शायद वो किसी स्वर्ग में पली है…
चलती है जब एड़ियां धंसती है…
रुत भी तो उसके हँसने से हंसती है…
Rangat uski pariyo si dhali hai..
Shayad wo kisi swarg me pali hai…
Chalti hai jab ediyaa dhansti hai…
Rut bhi toh uske hansne se hansti hai..

मुस्कान उसकी कहर ढाये..
देखु उसे तो परियों की कहानी यादआए…
देखकर उसे तितलियां कहती है..
ये कौनसे गुल मे रहती है…
Muskaan uski keher dhaaye…
Dekhu usae toh pariyo ki kahaani yaad aaye..
Dekhkar usae titliyaa kehti hai..
Ye kaunsi gool me rehti hai..

जब वो आँचल फैलाए
दुनिया और खूबसूरत हो जाए…
वो जब गाना गाती हैं…
कोयल उसकी बातें दोहराती है…।
Jab wo aanchal felaaye,
Duniya aur khubsurat ho jaaye…
Wo jab gaana gaati hain..
Koyal uski baate dohraati hai…

Writer:- Himanshu sharma

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

तुम – TUM

थोड़े से नादान हो तुम…
मेरे प्यार से अनजान हो तुम …
Thode se nadaan ho tum..
Mere pyaar se anjaan ho tum..

मेरे रातों का आखरी सवाल हो तुम..
मेरे सुबह की पहली जवाब हो तुम ..
Mere raato ka aakhri sawaal ho tum..
Mere subah ki pehli jawaab ho tum..

मेरे प्यार का पहचान हो तुम..
मेरे हर सवाल का जवाब हो तुम ..
Mere pyaar ka pehchaan ho tum…
Mere har sawaal ka jawaab ho tum…

मेरे दिल के अरमान हो तुम..
क्यों, कब ,कैसे मेरी ज़िन्दगी मै आए ..
Mere dil ke armaan ho tum..
Kyon, kab, kaise meri zindgi main aaye..

ये सोच के भी अजीब सा लगता है…
पर जबसे आए हो जनाब मेरी जान बन गए हो तुम …
Yeh soch ke bhi ajeeb sa lagta hai..
Par jabse aaye ho janaab meri jaan ban gaye ho tum..

रोमांटिक बातें करनी हमें सच्ची ठीक से आती नहीं..
पर किसिसे भी प्यार का नाम सुनते ही दिल..
Romantic baate karni hume sachchi theek se aati nahi…
Par kisise bhi pyaar ka naam sunte hi dil..

और दिमाग में आने वाली पहली खयाल हो तुम ..
तुम्हारा आवाज़ सुन कर दिल को ठंडक सी मिलती है..
Aur dimag me aanewali pehli khayaal ho tum,
Tumhara awaaz sunkar dil ko thandak si milti hai..

पता नहीं मेरी ज़िन्दगी के कौनसे रंग हो तुम ..
अब इससे ज्यादा क्या कहूं..
क्यूंकि मेरे हर तरफ अब सिर्फ “ तुम ही तुम ” ….
Pataa nahi meri zindgi ke kaunse rang ho tum..
Ab isse jyada kya kahu..
Kyunki mere har taraf ab sirf “Tum hi tum”….

Writer:- Prangya Panda

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

एक प्यार का पन्ना लिखने बैठे थे..
दिल की गहराईयो से महसूस होने वाली,
भावनाओं को कागज पे लिखने बैठे थे..
EK pyaar ka panna likhne baithe the..
Dil ki gehraaiyo se mehsoos hone wali,
Bhaavnaao ko kaagaz pe likhne baithe the…

याद आया अचानक ,
तरह – तरह के है प्यार,
बचपन वाला प्यार, इकतरफा प्यार…
Yaad aaya achanak,
Tarah-tarah ke hai pyar,
Bachpan wala pyar, ektarfa pyaar..

छुप – छुप के होने वाला प्यार,
वो चांद – सितारों वाला प्यार ,
वो बहानो वाला प्यार…
Chup- chup ke hone wala pyaar,
Wo chand- sitaaro wala pyaar,
Wo bahaano wala pyaar..

बिना शर्तों वाला नादान सा प्यार,
इशारों वाला प्यार, अधूरा प्यार,
ढूंढे है इंसान ने तरह – तरह के प्यार..
Bina sharto wala naadaan sa pyaar,
Ishaaro wala pyaar, adhura pyaar,
Dhunde hai insaan ne tarah- tarah ke pyaar..

मगर अफसोस भूल गया इंसान ,
न रहता विधाता प्यार के बगैर,
मिलता अगर चाहत से प्यार..
Magar afsos bhul gaya insaan,
Na rehta vidhaata pyaar ke begair,
Milta agar chaahat se pyaar…

जो मिले नसीबो से, वही है,
सच्चा हमसफ़र और प्यार !!”
Jo mile naseebo se, wahi hai,
Sachcha humsafar aur pyaar!!

Writer:- Tailor F S

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

प्यार कैसा होता है – Pyaar Kaisa Hota Hai…

पुछा कई बार दिल ने हमसे,
ये प्यार कैसे होता है।
महसूस न होता हमे,
अगर तुम से ना मिलते,
के प्यार एक अजीब एहसास होता है।
Poocha kai baar dil ne humse,
Ye pyaar kaise hota hai…
Mehsoos na hota hume,
Agar tum se na milte,
Ke pyaar ek ajeeb ehsaas hota hai..

कभी रुस्वाई , कभी तन्हाई में,
जब तड़प कर रोटा है दिल,
दीदार में अपने मेहबूब के,
उसका सुकून होता है।
जाना ये हमने मिल कर आपसे,
के प्यार बस ख़ुशी का परछाई होता है।

Kabhi rusvai, kabhi tanhai me,
Jab tadap kar rota hai dil,
Deedaar me apne mehboob ke,
Uska sukoon hota hai..
Jaana ye humne mil kar aapse,
Ke pyaar bas khushi ka parchai hota hai..

यादें किसी की जब बेचैन कर जाये,
नींद और चैन भी हमसे खफा होता है।
माना ये हमने चाहत में आपके,
के प्यार एक मीठा सा दर्द होता है।
Yaadein kisi ki jab bechain kar jaaye,
Neend aur chain bhi humse khafaa hota hai..
Maana ye humne chaahat me aapke,
Ke pyaar ek meetha sa dard hota hai..

हो सपनो से दोस्ती या खुद से रुस्वा,
अक्सर ख्यालों में उनका चेहरा होता है।
पहचाना ये हमने नज़रों में आपके,
के प्यार ही रूह, रब और दुआ होता है।
Ho sapno se dosti ya khud se rusva,
Aksar khayaalo me unka chehra hota hai..
Pehchaana ye humne najro me aapke,
Ke pyaar ho rooh, rab aur dua hota hai…

Writer:- Sonali Gnguly

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

धूप तेरे यादों की – Dhoop Tere Yaado Ki

धूप तेरी यादों की अब गिर गई हैं…!
तेरी जुदाई अब दिलको चीर गई हैं…!
Dhoop teri yaado ki ab gir gayi hai..
Teri judai ab dilko cheer gayi hai..

सच्ची, कुछ नहीं था इस आसमाँ में,
देखों अब तो सूरज भी ढल गया हैं..!
Sachchi, kuch nahin tha iss aasma me,
Dekho ab toh suraj bhi dhal gaya hai…

आप ही सोचों वक़्त तक से नाता टूट गया हैं..!
खामोशियों का अब दिल से रिश्ता जुड़ गया हैं..!
Aap hi socho waqt tak se naata toot gaya hain…
Khamoshiyo ka ab dil se rishta jud gaya hain…

खुशियों को अब गैरों के हवाले कर दिया हैं..!
आँसुओ को मुठ्ठी में बंध कर निचोड़ दिया हैं..!
Khushiyo ko ab gairo ke hawaalo kar diya hain…
Aansuo ko mutthi me band kar nichod diya hai…

वो एक शख़्स मेरी नज़रों तक से गिर गया हैं..!
शायद दिल शीशे का था क्योंकि वो टूट गया हैं..!
Wo ek shaks meri najro tak se gir gaya hain..
Shayad dil sheeshe ka tha kyunki wo toot gaya hain…

Writer:- Priyanka khunt

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

प्यार ही तो है जिसका कोई मोल नही है।
इस अनमोल रिश्ते का कोई तोड़ नही है।
Pyaar hi toh hai jiska koi mol nahin hai..
Iss anmol rishte ka koi tod nahin hai..

प्यार तो सबको ज़िन्दगी जीना सिखाता है।
बिना मतलब के वो खुशियां लाता है।
Pyaar toh sabko zindgi jeena sikhaati hai..
Bina matlab ke wo khushiyaa laata hai..

प्यार कभी जीवन मे नही रुलाता है।
प्यार तो हमे हमेशा हँसना सिखाता है।
Pyaar kabhi jeevan me nahin rulaata hai…
Pyaar toh hume hamesha hansna sikhaati hai…

प्यार के नाम पर अक्सर छल हो जाता है।
पर जिसे प्यार हो वो अद्धभुत हो जाता है।
Pyaar ke naam par aksar chal ho jaata hai…
Par jisae pyar ho wo adhbhut ho jaata hai…

प्यार तो अपने आप मे खुदा से मिलवा देता है।
इसकी इबादत करो तो खुदा भी आजाता है।
Pyaar toh apne aap me khuda se milvaa deta hai…
Iski ibadat karo toh khuda bhi aa jaata hai…

प्यार जीवन मे खरीदा नही जा सकता।
प्यार तो बस किया जा सकता है।
Pyaar jeevan me khareeda nahin ja sakta..
Pyaar toh bas kiya ja sakta hai…

प्यार जितना पाक रिश्ता कोई हो नही सकता।
जो इसकी कदर न करे उसे बड़ा मूर्ख कोई नही होता।
Pyaar jitna paak rishta koi ho nahin sakta…
Jo iski kadar n karein usae badaa murkh koi nahin hota…

Writer:- Rashmi Baweja

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

एक सुनहरी सी सुन्दर चांदनी रात है।
मेरी रूह मेरे दिलसे कर रही तेरे इश्क़ बात है।
शायद किसी और के लिए शब्द होंगे पर मेरे यह जज़्बात है।
एक सुनहरी सी चांदनी रात है।
Ek sunheri si sundar chandni raat hai..
Meri rooh mere dilse kar rahi tere ishq baat hai..
Shayad kisi aur ke liye shabd honge par mere yeh jazbaat hai…
Ek sunehri si chandni raat hai..

अखियां मेरी देखरही आपकी राह हैं।
आप ही मेरी मोहोबत हैं आप ही, मेरी चाह हैं।
मोहोब्बत की मेरी ना है इब्तिदा और ना ही इंतिहा है।
मेरी हर मंज़िल तक जाने का बस आप ही राह हैं।
अखियां मेरी देखरही आपकी राह हैं।
Ankhiya meri dekh rahi aapki raah hai..
Aap hi meri mohabbat hai, aap hi meri chaah hai..
Mohabbat ki meri na hai ibtida aur na hi intihaan hai..
Meri har manjil tak jaane ka bas aap hi raah hai..
Ankhiya meri dekh rahi aapki raah hai…

आप जब साथ है तोह रात में भी सवेरा है।
आप मेरे साथ नहीं तोह दिन में भी अँधेरा है।
आपका मेरे दिल के एक ख़ास हिस्से में बसेरा है।
आपके मुरीद बोहोत होंगे पर आपके सिवा ना कोई मेरा है।
आप जब साथ हो तो …
Aap jab saath hai toh raat me bhi savera hai..
Aap mere saath nahin toh din me bhi andhera hai..
Aapka mere dil ke ek khaas hisse me basera hai..
Aapke mureed bahut honge par aapke sivaa na koi mera hai..
Aap jab saath ho toh…

Writer:- Lavish

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

करती हैं.. जो हर वक़्त इंतजार मेरा,
मेरे इश्क़ में शामिल, वो नाम तेरा..।।
Karti hai… jo har waqt intazaaar mera,
Mere ishq me shaamil, wo naam tera….

मैं करता रहू मनमानी,
उसे हर फैसला स्वीकार मेरा..।।
Main karta rahu manmaani,
usae har faisla swikaar mera…

बात-बात पर करती तंग,
मुझ पर हक जो ठहरा तेरा..।।
Baat-baat par karti tang,
Mujh par haq jo thehra tera…

मैं करता रहू..
चिड-चिड उस पर,
जवाब में चुप रहना, वाह.. बेहिसाब इश्क़ तेरा..।।
Main karta rahu…
Chidh- chidh uss par,
Jawaab me chup rehna, wah..behisaab ishq tera….

यु ही दिन से रात, रात से दिन तुझे ख्याल मेरा,
तेरे हर वक़्त पर नाम मेरा..।।
Yun hi din se raat, raat se din tujhe khayaal mera,
Tere har waqt par naam mera…

मेरा संदेश मिलते ही मुस्कुराना,
सिर्फ बातों में मेरी उलझना जैसे हो पसंदीदा कोई काम तेरा..।।
Mera sandesh milte hi muskuraana,
Sirf baato me meri ulajhna jaise ho pasandida koi kaam tera..

खबर खुद की नही उसे,
पर हर वक़्त मुझे याद करना जैसे मैं ठहरा कोई हकीम तेरा..।।
Khabar khud ki nahin usae,
Par har waqt mujhe yaad karna jaise main thehra koi hakim tera…

तु बरसात की बूँद जैसी,
में जमीं बंजर सा..
मेरे जिंदगी में जो बरसा वो एहसान तेरा..।।
Tu barsaat ki boond jaisi,
Main zameen banjar saa…
Mere zindgi me jo barsa wo ehsaan tera…

तु रहे खुश हर वक़्त,
जैसे दुआओं में मेरी सिर्फ नाम तेरा..।।
Tu rahe khush har waqt,
Jaise duaao me meri sirf naam tera..

Writer:- Anand prakash

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

Wese toh “hindi prem kavita” ladka ho ya ladki sabke liye same hi hoti hai…Lekin kabhi kabhi hum character me jaakar likhte hai toh shayari aur kavita kiske liye likhe h wo bhi important ho jaata hai…

Must Read:-

तु मेरी मंजिल है…
हा, तु मेरी मंजिल है…
Tu meri manzil hai
Haan, tu meri manzil hai

तुझे देखकर पहलीबार नजरे बस वही ठहर सी गई थी…
तब से लेकर आज तक बस तेरा ही चहेरा दिल मे बस सा गया है… !
Tujhe dekhkar pehlibar nazre bas wahi thahar si gayi thi,
Tab se lekar aaj tak bas tera hi chehra dil mai bas sa gaya hai

हा, तु मेरी मंजिल है…
तुझे देखकर जैसे दिल की बरसो की तलाश पूरी सी हो गई…
Ha, tu meri manzil hai
Tujhe dekhkar jaise dil ki barso ki talash

इस दिल को जिस मंजिल की तलाश थी वो मिल सी गई… !
हा, तु मेरी मंजिल है…
Is dil ko jis manzil ki talash thi wo mil si gayi
Ha, tu meri manzil hai

तेरी हंसी इस दिल को सूकुन सी देती है,
तेरा रोना इस दिल को दर्द सा देता है…
Teri hansi is dil ko sukun si deti hai
Tera rona is dil ko dard deta hai

तेरी बातों से ही जैसे मेरा दिन होता है,
और तेरी यादों से ही मेरी रात होती है… !
Teri baati se hi mera din hota hai,
Or teri yaado se hi meri raat hoti hai

हा, तु मेरी मंजिल है…
तेरा वो सामने आना और मन ही मन खुद को संवारना…
Ha, tu meri manzil hai,
Tera wo saamne aana or man hi man khudko sanvarna..

मेरी हर टेंशन के बीच मे तेरा एक कोल या एक मेसेज आ जाना जैसे सारी थकान मिटा जाना…. !
हा, तु मेरी मंजिल है…
Meri har tension ke bech mai tera ek call ya messege aa jana jaise saari thakan mita jana..
Ha, tu meri manzil hai…

तेरी आवाज सुनने के लिए रोज तरसना, तेरे साथ के लिए रोज तडपना…
रोज तेरे इंतज़ार मे पलके बिछाना, रोज तेरे लिए बेवजह आंसू बहाना…
Teri aawaz sunne ke liye roz tarasna, tere sath ke liye roz tadapna..
Roz tere intezaar mai palke bichana, roz tere liye bewajah ansu bahana..

रोज हर मन्नत मे तुझे ही मांगना, रोज तेरे सपने देखना…
बस यही मेरी मंजिल है…
Roz har mannat mai tujhe hi maangna, roz tere sapne dekhna…
Bas yahi meri manzil hai

तु मेरा विशवास है, तु मेरी आस्था है…
तु मेरी मंजिल है और तु ही मेरा रास्ता है…
हा, तु ही तो मेरी मंजिल है…
Tu mera vishwas hai, tu meri aastha hai
Tu meri manzil hai or tu hi mera raasta hai
Ha, tu hi meri manzil hai

Writer:- Dolly Jitendrkumar Vadhvani

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

हम चले जब भी इक सफ़र के लिए
फिर तो तरसे हैं हमसफ़र के लिए
Hum chale jab bhi ik safar ke liye
Fir toh tarse hai humsafar ke liye

हम तो भटके थे राह में तन्हा
कोई आया ना था ख़बर के लिए
Hum toh bhatke the raah mai tanha
Koi aaya na tha khabar ke liye

उनकी आंखें बहुत नशीली लगीं
फिर भी तरसे हम इक नज़र के लिए
Unki aankhe bahut nashili lagi
Fir bhi tarse hum ik nazar ke liye

ख़्वाब बेहद हैं मिरी आंखों में
क्यों बनी फिर ये चश्म-तर के लिए
Khwaab behad hai meri aankho mai
Kyu bani fir ye chashm – tar ke liye

हम उसी दश्त में अकेले हमीद
क्यों भटकते ही रहे घर के लिए”
Hum usi dashat mai akele hamid
Kyu bhatakte hi rahe ghar k liye
Satvinder Singh Untoldalfaz

मैं खुद को तुम्हारा बनाना चाहती हूं
कई साल हो गए हमारी दोस्ती को
अब इस दोस्ती को अलग मुक़ाम पर लाना चाहती हूं,
Me khudko tumahar banana chahti hu
Kai saal ho gaye hamari dosti ko
Ab is dosti ko alag mukaam par laana chahti hu,

अब खुद तुम्हारी दोस्त नहीं
पत्नी बनाना चाहती हूं
Ab khud tumhari dost nahi,
Patni banna chahti hu

तुम्हारे कांधे पर रख अपना हाथ
मैं उस पोज में एक फोटो खींचाना चाहती हूं,
Tumhare kaandhe par rakh apna hath
Me us poj mai ek photo khichna chahti hu

तुम्हारे जो ये दोस्त है ना
उन सबकी खुद को भाभी बनाना चाहती हूं,
Tumhare jo ye dost hai na
Un sabki khud ko bhabhi banana chahti hu

तुम ख़ास हो मेरे लिए
ये बात मैं अपने घर में बताना चाहती हूं,
Tum khas ho mere liye
Ye baat me apne ghar mai batana chahti hu

तुम भी कर लेना घर में बात
मैं भी अपने घर वालों को तुम्हारे लिए मनाना चाहती हूं,
Tum bhi kar lena ghar mai baat
Me bhi apne gharwalo ko tumhare liye manana chahti hu

यूं तो मैं कभी इतना सजती नहीं
पर तुम्हारी होने के खुद को सजाना चाहती हूं,
Yu toh me kabhi itna sajti nahi
Par tumhari hone k khud ko sajana chahti hu

तुम्हारी जिंदगी मैं होगी बहुत लड़कियां
पर मैं तुमसे विवाह रचाना चाहती हूं,
Tumhari zindagi mai hogi bahut ladkiya
Par me tumse vivah rachana chahti hu

वैसे तो मैं कभी रोती नहीं पर जब आए
रोना तो बस तुम्हे गले लगाना चाहती हूं,
Waise toh me kabhi roti nahi par jab aaye
Rona toh bas tumhe gale lagana chahti hu

यूं तो मैं अपनी मर्जी की खुद मालिक हूं
पर अपना सब कुछ तुम्हें बनाना चाहती हूं,
Yu toh me apni marzi ki khud maalik hu
Par apna sab kuch tumhe banana chahti hu

तुम्हारी माँ को अपनी माँ और उनके मुह से
खुद को बहू नहीं बेटी कहलवाना चाहती हूं,
Tumahri ma ko apni ma or unke muh se
Khudko bahu nahi beti kahalwana chahti hu

मैं वैसे कभी किसी को अपने करीब नहीं आने देती
पर मैं तुम को अपने पास बिठाना चाहती हूं,
Me waise kabhi kisi ko apne karib nahi aane deti
Par me tum ko apne pass bithana chahti hu

तुम ऑफिस भी जाते हो तो ऐसे ही चले जाते हो
मैं सुबह जल्दी उठ कर तुम्हारे कपड़े तय लगाना चाहती हूं,
Tum office bhi jaate ho toh aise hi chale jaate ho
Me subah jaldi uthkar tumhare kapde tay lagana chahti hu

तुमको सारी दुनिया झूठा बताती है
मैं इस झूठ के साथ अपनी सारी जिंदगी बिताना चाहती हूं,
Tumko saari duniya jutha batati hai
Me is juth ke sath apni saari zindagi bitana chahti hu

तुम हमेशा जल्दी जल्दी मैं बिना कुछ
खाए पीए ऑफिस निकल जाते हो
मैं तुम्हारे लिए सुबह का ब्रेकफास्ट बनाना चाहती हूं,
Tum hamesha jaldi jaldi mai bina kuch
Khaaye piye office nikal jate ho
Me tumhare liye subah ka breakfast banana chahti hu

लोगों ने जिस शायर को झुका दिया
मैं उस शायर को उठाना चाहती हूं
Logo ne jis shayar ko juka diya
Me us shayar ko uthana chahti hu

मैं खुद को तुम्हारी लिखी कोई कविता
और तुमको खुद का कवि बनाना चाहती हूं
Me khudko tumhari likhi koi kavita
Or tumko khudka kavi banana chahti hu

Writer:- Sanskruti Katle

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

तुम ही हो – Tum Hi Ho

मेरी कमजोरी तुम हो ताकत भी तुम ही हो
मेरी चाहत तुम हो राहत भी तुम ही हो
Meri kamjori tum ho takat bhi tum hi ho
Meri chahat tum ho rahat bhi tum hi ho

दिन की पहली रात की आखिरी
सोच तुम ही हो
Din ki pehli raat ki aakhiri
Soch tum hi ho

करे जो नजरें
वो खोज तुम ही हो
Kare jo nazre
Wo khoj tum hi ho

जिंदगी में जो खुशी से जिए
वो पल तुम ही हो
Zindagi mai jo khushi se jiye
Wo pal tum hi ho

बुरे वक्त में साथ जिसको पाया
वो हमदर्द तुम ही हो
Bure waqt mai sath jisko paya
Wo humdard tum hi ho

पास तुम ही हो खास तुम ही हो
प्यार वाला एहसास तुम ही हो
Pass tum hi ho khaas tum hi ho
Pyaar wala ehsaas tum hi ho

ज़ज्बात तुम ही हो अल्फाज तुम ही हो
इस दिल की आवाज़ तुम ही हो
Jazbaat tum hi ho alfaaz tum hi ho
Is dil ki awaz tum hi ho

मुस्कान का राज तुम ही हो
देखू जो मैं वो ख्वाब तुम ही हो
Muskaan ka raaz tum hi ho
Dekhu jo me wo khwaab tum hi ho

इस दिल में बस्ते तुम ही हो
छोड़ ना जाना
Is dil mai baste tum hi ho
Chod na jaan

हमारी खुशियां पाने के
रास्ते तुम ही हो
Hamari khushiya paane ke
Rasste tum hi ho

Writer:- Nilofar Farooqui Tauseef

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

क्या तुम्हें मुझसे अब भी प्यार है ?
तेरे इश्क़ का जुनून है, या मेरे इश्क़ का खुमार है
इतना बता दे ज़रा, क्या तुम्हें मुझसे अब भी प्यार है?
Kya tumhe mujse ab bhi pyaar hai?
Tere ishq ka junoon hai, ya mere ishq ka khumaar hai
Itna bata de jara, kya tumhe mujse ab bhi pyaar hai?

ये वादियां आज भी बुलाती है
ये नदिया तेरा नाम गुनगुनाती है
Ye vaadiya aaj bhi bulati hai
Ye nadiya tera naam gungunati hai

ये लहरों का मचलना भी ज़रा देख
कैसे कोयलया आवाज़ लगाती है
Ye lehre ka machalna bhi jara dekh
Kaise koyal aawaz lagati hai

तेरी खातिर मेरा दिल अब भी बेक़रार है।
इतना बता दे ज़रा, क्या तुम्हें मुझसे अब भी प्यार है?
Teri khatir mera dil ab bhi bekarar hai
Itna bata de jara, kya tumhe mujse ab bhi pyaar hai?

तेरी तस्वीर देखकर मुस्कुराती हूँ
तेरी आहटों से सिहर जाती हूँ
Teri tasvir dekhkar muskarati hu
Teri aahato se sihar jaati hu

ये सरगोशियां, ये ज़ुल्फ़ों को बांकपन
तेरा नाम सुनकर ही इतराती हूँ
Ye sargoshiya, ye julfo ko bankpan
Tera naam sunkar hi itraati hu

मेरे लबों पे अब भी इक़रार है
इतना बता दे ज़रा, क्या तुम्हें मुझसे अब भी प्यार है?
Mere labo pe ab bhi ikraar hai
Itna bata de jara, kya tumhe mujse ab bhi pyar hai?

ये साँसों की गर्मी
ये लबों की नरमी
Ye saanso ki garmi
Ye labo ki narmi

ये धड़कन की आंहे
तेरी वो बाँहे
Ye dhadkan ki aahe
Teri wo baahe

इन्हें आज भी तेरा इंतज़ार है
इतना बता दे ज़रा, क्या तुम्हें मुझसे अब भी प्यार है?
Inhe aaj bhi tera intezaar hai
Itna bata de jara, kya tumhe mujse ab bhi pyaar hai?

Writer:- Shalni Singh shyam

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

वो दूर है तुजसे,
मुझे तो बस सिर्फ इसी बात की खुशी है ,
कि हम एक ही आसमा के नीचे रहते है।”
Wo dur hai tujse,
Muje toh bas sirf isi baat ki khushi hai
Ki hum ek hi assman ki niche rehte hai

गुलाब बड़ा पुराना लगता है…
संभाला ऐसे कि कोई याराना लगता है…
काफ़ी दिन से डायरी में दफन है ये खत के साथ …
और खत भी खुद में बंद एक ज़माना लगता है…
Gulaab badaa pooraana lagta hai..
Sambhaala aise ki koi yaaraana lagta hai..
Kaafi din se diary me dafan hai ye khat ke saath..
Aur khat bhi khud me band ek jamaana lagta hai..

स्याही अब भी सूख रही है खत की,
और मुड़ाव सालों पुराना लगता है…
लोग चले जातें है ज़िंदगी से फ़ौरन अक्सर,
मगर एहसास मिटाने में ज़माना लगता है…
Syaahi ab bhi sukh rahi hai khat ki,
Aur mudaav saalo pooraana lagta hai…
Log chale jaate hain zindgi se foran aksar,
Magar ehsaas mitaane me zamaana lagta hai..

ये गुलाब काफ़ी पुराना लगता है…
संभाला ऐसे कि कोई याराना लगता है…
Yeh gulaab kaafi poorana lagta hai..
Sambhaala aise ki koi yaaraana lagta hai..

Writer:- Ankur Kumar Tiwari

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

आपको देखते ही मोहब्बत-ए-इज़हार कर बैठे,
आपकी खूबसूरती का ज़िक्र सितारों से हज़ार बार कर बैठे,
श्रृंगार-ए-दिलकश लगाके निकला ना करो,
डर लगता है हमें, कई आपको कोई नज़र-ए-बरी लगा ना बैठे।
Aapko dekhte hi mohabbat-ae-ijhaar kar baithe,
Aapki khoobsurti ka jikr sitaaro se hajaar baar kar baithe,
Shringaar-ae-dilkash lagaake niklaa na karo,
Dar lagta hai hume, kai aapko koi najar-ae-bari lagaa na baithe..

Writer:- Zainab kanchwala

Lovely Hindi Prem Kavita
Download Image

Must Read:- 2 Lines Shayari To Impress A Girl

Ruthaaashiq jab crowd me se “hindi prem kavita” ki khoj kar rha tha toh usne jaana ki fiction me sab tarike se lekhak likhte hai…Kai baar ladke khud jo chaahte hai …Wo khud love poems in hindi for boyfriend khud being girl likhte hai…Aur kai baar ladkiya khud jo chaahte hai…Wo khud poem for girlfriend in hindi being a boy ese likh lete hai…Man ki kash ma kash aur chuppi hui aarzoo ko aapne bhi kalaa k roop me likhe hai toh hume send jarur kijiye….

Spread The Love

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.