Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Published by Rutha Aashiq on

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Humare writer community group me “whatsapp group shero shayari in hindi” ki jugalbandi hoti hai.shero shayari whatsapp group link humare about us section me humne mention ki hui hai. Aap bhi join hoke, writers ki iss duniya me “shareo shayari in hindi” ki chemistry create kar sakte hai.

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Whatsapp Status Shayari In Hindi | Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

“Whatsapp whatsapp status Shayari In Hindi” sab rakhte hai, lekin humare is write up wall group me sab “Whatsapp chat shayari” khudke original content bhejte hai. Real artists ka ye real talent ruthaaashiq ne “whatsapp group shero shayari in hindi “ post me collect karke aur bhi writer se connect karne post ki hai…

प्यार के पर्चे मिल गए है मुझको..
न कोई प्रेमी न कोई प्रेम है उसमें…
पूरी हो गयी है कहानी मेरी…
न हिस्सा न किस्सा कोई अब अधूरा इसमें…

Ruthaaashiq.co

हमको मालूम है अंज़ाम हमारा
इसमे जाने वाला का कसूर कैसा

– @aehsasat

पूरी कहानी बस इतनी है सबकी,
की हर कहानी अधूरी है…

– Ruthaaashiq.co

आज समझें है बातों को
आज समझें है लोग करते क्यूँ है बातें
ज़ाहिर हो जाता है हाल दर्द का है इस तरह से कौन  रातों को रोता बिल्कता है

– @aehsasat

समझ लिए हम, बस वही चूक गए…
हम ना समझ ही खुश थे।।।

चलो बिलखते तो है आपके जज़बात,
हम इतने खर्च हो गए- सब एहसास खत्म कर दिए..

– Ruthaaashiq.co

कोई भुली सी बात करती हो क्या
मेरी बातों का वो जवाब कैसा था..?

– @aehsasat

मैं सवालों के लिए तैयार हो रहा था,
तुम तो दो लफ्ज़ का जवाब दे गए..
उम्मीद थी उम्मीद की हमसे,
तुम सुकून लेकर- हर नाता छोड़ गए..

– Ruthaaashiq.co

ईमान जानिए हम कैसे है
अला नाहक की तोहमतो का वास्ता नही

– @aehsasat

बस इतना ईमान हमने भी निभाया उनसे..
उनके ईमान के लिए- उन्हें छोड़ आये..

– Ruthaaashiq.co

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

वो मुझे छोड के जिसके पास गई मुझसे बेहतर होता तो बात करने की होती

– @aehsasat

रिश्ते में मलाल बस इतना था,
वो हाँ कहकर भी कभी निभाता नहीं,
और मैं ना कहकर भी कभी निभाना छोड़ ना सकी…

– Ruthaaashiq.co

मलाल उस रिश्ते का ना था जो बना था…
मलाल उस वक़्त से जब उनसे मिले थे…
अब बस वो शिकवे और गिले हैं..

– @raat_ka_humsafar

रिश्ते कहाँ है कोई,
वक़्त का हिसाब है,
जरूरत नहीं, वहाँ कहाँ कोई साथ है…

– Ruthaaashiq.co

दिल से अगर हर रिश्ता बनता तो उसका कोई नाम नहीं होता,
रिश्ते में कोई बिचार जाये ऐसा अंजाम नहीं होता,
अगर मजबूत होते रिश्ते दोनों तरफ से,
खुदा कसम ये रिश्ते भी कभी बदनाम नहीं होता…

– @mere.lafz17

दिल की बातें,
दिल से बातें,
ये सब झूठ है…
बस बातों में ही है दिल,
बस इतना सा सच्च है..

रिश्ते भी गहनों की तरह है,
अवसरों में पहनकर उतार देने ही सही..

– @Ruthaaashiq.co

रिश्ते खून के नहीं विश्वास के होते हैं,
अगर विश्वास हो तो पराये भी अपने हो जाते हैं,
अगर विश्वास ना करो अपने पर,
तो अपने भी पराये नजर आते हैं

– @mere.lafz17

आज सच्चा साबित नहीं होने आया मैं,
फरेब कहकर सही – मुझे तुमसे रिहा कर दो…

– Ruthaaashiq.co

अजीब खेल है ये इश्क़ भी,
कोई जीत के हारता है,
कोई हार के जीतता है,
असल ये है की मुकम्मल कम ही होता है…

– @raat_ka_humsafar

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

तमन्ना करने की तमन्ना कबतक सिखाता रहूँगा ऐ ज़िन्दगी,
इससे बहतर – मेरा अकेलापन तो मेरा था…

– Ruthaaashiq.co

तमन्ना करते रहे कि कोई तमन्ना बाकी न रहे,
इसी तमन्ना में बस दिन यूँ ही गुज़रते रहे

– @mere.lafz17

तेरे अलावा और भी था देखने को
मगर ये दिल ही था जो तेरे लिए सब दरकिनार किया

– @aehsasat

Rishte kahaan h koi,
Waqt ka hisaab hai…
Jarurat nahi, waha kaha koi saath hai…

जाप, जोग, जिगर -सब नुस्खे सब भरम है…
टूटी किस्मत के कोई रफ़्फ़ु नहीं होता…
पंथ, परमेश्वर, परंपरा सब नाम है…
इंसान की मानसिकता कोई पिरो नहीं सकता…
इश्क़, ईश्वर, इरादा सब कल्पना है,
सोच में लिप्त न हो तो- न रिश्ता न मजहब कुछ अपना नहीं होता…

– @Poetpriyu

मैने चलना था साथ सो इरादे कर चुकी थी तेरी फितरत ह बदल जाना सो दोष मेरा क्यूँ….?

फरेबी है लोग झूठी है इबादत इनकी
इनके शहर तो चलो इनके मकानात जिस्म-ए-बाज़ार

जरा लफ्जों से सवालो तो करो
ये मेरा नाम उनके होंटो को चुमेंगे क्या….?

– @aehsasat

जब सब झूठ है इस दुनिया में-
सच्च खोज सबसे बड़ा झूठ है..

– Ruthaaashiq.co

झूठ सब कुछ बात करता हैं 👏👏
सही कहा जी।

– Rakshith

साथ कभी समझा नहीं,
दूर चलने के इल्जाम हैं…
गिरेबान में छिपा कितना रहस्य,
किरदार हमारा खराब है..

– Ruthaaashiq.co

वक़्त सबका उत्तर बात बहुत कुछ करेगा और ख़ूबस से लिखते हो जी।

– Rakshith

Din b dekhe h raate bhi,,
Meri muskurati chehre ki subah me log gumrah ho gaye..

– Ruthaaashiq.co

हमारा किरदार खराब है हमने मान लिया,
इल्ज़ाम तुम्हारा है ये भी तुमने कह दिया,
कभी अपने भी गिरेबान मे झाक कर ये तो बता दो,
किरदार तुम्हारा कैसे खराब हो गया |

– @mere.lafz17

Kisi ke Surat se ishq na Kar Beth na motharma
Ye duniya hai,
Yaha log Kapdon se zayda Surat badalte Hain.

– @raat_ka_humsafar

Surat dekh kr kisi ki sirat na bataya kro,
Khud ke gireban me kabhi jhak liya bhi kro,
Aur haan jitna tum samajhte ho utna kafi nhi,
Isliye duniya ke logo ko badalne ki baate koi na he kiya kro.

– @mere.lafz17

टूटा हूँ ,
गिरा हूँ,
इसलिए तो सीख है…
बाकी सारे शायद खुदसे चले ही नहीं…

– Poetpriyu

बातों पर तारीफों की अदाएगी होती रहेंगी
कभी किसी बहाने खैरियत तो जाने

– @aehsasat

खैरियत कोई न ही पूछे वो सही लगता है,
न जाने क्या किम्मत माँग ले ..

– Ruthaaashiq.co

तस्वी की टूटी हुई मोती की मानिदं दिल को चाह है मगर लफ्ज़ कतरा गए

– @aehsasat

लफ्ज़ के लिबाज़ मैं ओढ़ लेता हूँ सही से,
ये जज़्बातों का हिस्सा – खुदसे
रूबरू करवाने का भी साहस कहाँ अब..

– Ruthaaashiq.co

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

कुछ ऐसा ही है मेरे जिंदगी का दामन भी,
मैं कहता कुछ हूँ- और दुनिया किसी और भाग रही है…

– Ruthaaashiq.co

मुमकिन था जवाब वही होगा
क्या मैने कोशिश नही की होगी

– @aehsasat

lekhako ka ye ese safar me agar aap bhi apne original content send karnaa chaahe ya read karna chaahe toh humare writer community ke details humare site ke tabs me se join kare aur “whatsapp group shero shayari in hindi” ka anand le..Ruthaaashiq “Whatsapp chat shayari” me apne IG ke saath apne aap ko real writer group me shaamil kare.

सोचता हूँ किसी एक वजह को कोस लू,
मगर ये छूटती किस्मत – हरबार नये बहाने से आई..

– Ruthaaashiq.co

इबादत उसकी करो जो दिल में बस्ता है,
हाथ उसका पकड़ो जो जिंदगी भर साथ देता है,
मोहब्बत करनी है तो दिल करो जनाब,
वरना जिस्मों का खेल तो अक्सर बाजार मे ही होता है |

लफ़्ज़ों का यह लिबाज हर किसी के लबों पर नजर आता है,
खुदा कसम यह दिल के हर ज़ज्बात को बयां कर देता है,
हकीकत है इन ज़ज्बातो की भी,
कभी ख़ुशी तो कभी ग़म का लिबाज ओढ़ लेता है |

– @mere.lafz17

ये मोहब्बत का कारोबार जरूर करना दोस्तों,
बस खयाल रहे – हर सुबह बस शुरुआत खुदसे हो…

– Ruthaaashiq.co

मोहब्बत का कारोबार एक जेल है,
मुनाफ़ा ढूँढो तो बस सारे कैदी फैल है,
खुद से अगर शुरुआत करोगे इस कारोबार का,
मोहब्बत भी लगने लगेगा कि यह एक खेल है |

– @mere.lafz17

ख्वाब का अब ख्वाब नहीं,
ऐ रात तेरी हक़ीक़त को ही जीता हूँ…

– Ruthaaashiq.co

ख़्वाब की कोई हकीक़त नहीं होती है ,
झूठे इश्क़ की कभीं तारीफ़ नहीं होती है,
और हकीकत है हर रात की भी,
यह रात भी किसी की अपनी नहीं होती है
और हाँ जीत जाती है कुछ हकीक़त भी,
क्योकि हर रात के भी हमेशा दिन भी होती है |

– @mere.lafz17

ख्वाब महलों का नहीं – एक घर का था,
जिंदगी छत मरम्मत करने में निकले जा रही है…

– Ruthaaashiq.co

ख़्वाबों का महल मे कब से यह घर बनने लगा है,
ज़रा हमे यह तो बता दो छत किस मिट्टी का बना है,
चलो मान लिया ख्वाबों तुम्हारा एक घर का था,
फ़िर यह बात जिंदगी के हर पन्नों मे क्यों लिखा है |
कोई दर्द है अगर तो बता दो मुझे,
हमदर्द ना समझकर एक दोस्त ही बना लो मुझे |
यह छत भी हम दोनों मिल के बना लेंगे,
पर जिंदगी मे कभी तुम अकेले नहीं रहोगे |

– @mere.lafz17

हाँ अब दुखों का एहसास नहीं होने देता मैं,
क्या अब खुशियों में खुश हो पाऊँगा…

– Ruthaaashiq.co

दुखों का ये ऐहसास बहुत दर्द देता है,
हसीन शाम नहीं काली रात को बताता है,
और खुशियो के सौगात का पता नहीं मोहतरमा,
इसलिए खुश होने की वजह भी शायद ही कोई होता है |

– @mere.lafz17

न मर्यादा,
न इज्जत,
न तहजीब,
न गरिमा,
न ठहराव,
न नमी,
न झुकाव,
रिश्ते ही नहीं – तो बिखरता भी नहीं अब..

काले अक्षरों में सफेद झूठ बता देता हूँ,
काले अक्षरों में सफेद झूठ बता देता हूँ,
दर्द लिखता हूँ, मगर हँसकर जीकर बताता हूँ..

– Ruthaaashiq.co

दर्द दिल में हो तो अक्षरों की क्या बात करते हैं,
चलिए कुछ नए, कुछअलग, कुछ हसीन पलों की शुरुआत करते हैं

– @the_silent_tales

शुरुवात की बात कहाँ..
मैं आई थी, तब तुम नहीं थे,
आज तुम आये ही तो मैं नहीं…

– Ruthaaashiq.co

ये ख्वाब कुछ पुराना हो चला है,
इश्क नया है बेशक ये मजनू पुराना हो चला है,
मिलना मिलाना तो ऊपर वाला चाहे,
आज मैं गया तेरे दर से तो कल तू मेरे दर से चला है।

– @the_silent_tales

लकीरें पढ़ना सीखने चला था मैं,
तेरे साथ नसीब बनाने में…
नसीब की लकीरें भी कह गई,
तेरे नाम लकीरों के लिये का दामन नहीं…

दिल की बात है, या बात दिल में बात लिए घूम रहा हूँ…
तू है भी नहीं, तुम्हे जीये जा रहा हूँ…

– Ruthaaashiq.co

चलिए थोड़ी लुक्का छिप्पी आज चाय के साथ करते हैं,
एक काम आ गया है थोड़ी देर में बात करते हैं।

– @the_silent_tales

अकेले हूँ नाराज़ होकर,
आपको छोड़कर फिर से ज़िन्दगी देकर,
लेकिन आपका हँसी मुझे जीने लिए,
सिर्फ आपकी बात मेरे साथ |

– Rakshith

साथ के यादों में जी लेता मैं,
तुम वो भी झूठा ठहरा गए…
भरोसे के दामन क्या संभालू मैं,
हमारे वजूद पे ही जब सवाल है…

न आसमा, न जमीन, न घर,
न शौक, न हवेली, न नशा,
जब वक़्त को गुज़रते ही देखना है,
क्या फर्क है, शक्स जीता है या मरता है..

एक भ्रम में,
एक सपना सा जीवन…
एक ख्वाब में,
एक सपना सा जीवन….
एक साये में,
एक सपना सा जीवन…
एक सबक में,
एक सपना सा जीवन…
बीते पल में,
एक टूटा सपना सा जीवन…
आनेवाले पल में,
एक जुड़ता सपना सा जीवन…
नए साल में ,
एक साल और सपना सा जीवन…

– Ruthaaashiq.co

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi, jahan aap khul ke apni shayari bayan kar sakte ho voh bhoi shayaro ke saath. Upar se kahi jane ki bhi jaroorat nahi sirf aapko Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi join karna hain and apni kahani ki shuruaat karni hain.

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

प्रेम होना,
प्रेम खोना,
प्रेम में रोना,
प्रेम को जीना,
प्रेम निभाना,
प्रेम से भागना,
प्रेम में भागना,
प्रेम में जागना,
प्रेम में सोना,
प्रेम में होना,
प्रेम में न होना,
प्रेम को सहना,
प्रेम को कहना,
“प्रेम से प्रेम नहीं “- क्या ये कहना भी प्रेम की बात नहीं..

न इनकी आशिक़ी झूठी होती है,
न इनके आशिक़…
न इनकी आशिक़ी झूठी होती है,
न इनके आशिक़…
ये एकतर्फे झूठ बन जाते है, आँसू की सच्चाई में…

दो बाजू में सरहद बने रहा,
मुझे चाहते है दोनों – मगर मैं किसी का न हुआ…

– Ruthaaashiq.co

मोहतरमा आदतें बदलती है,
फितरते नहीं,
बेवफा कल भी थे, आज भी हो..

– @raat_ka_humsafar

जिंदगी भर बोझ वो ढोते रहते है,
तकलीफों को हसते हुए सहते रहते है,
भूल जाते है हर दुःख दर्द को अपने परिवार के लिए,
वो और कोई नहीं पिता ही कहलाते है |

– @mere.lafz17

वादों के बाजार के बाहर, तू भरोसा बन गया…
मन की कहानी का, तू सिंगार बन गया…
रीत रिवाज़ और कहानी के परे, एक जीने का सलिखा बन गया…
एक तू , एक मैं , सब झूठ- सिर्फ हम एक सच्चा एहसास बन गया..

– Ruthaaashiq.co

बनने का हर तो हर चीज बन गया,
लेकिन तू अब तक मेरा न बन पाया,
ये कैसा नाचीज़ बनाया ए ख़ुदा,
इंसान तो बनाया लेकिन इंसानियत क्यों ना बना पाया |

– @mere.lafz17

ये दामन मेरी माँ का सीखा गया है मुझे,
औरत के नाम कुछ हो न हो, औरत जिस नाम की हो जाये, उसी नाम की हो जाया करती है..

– Ruthaaashiq.co

हर शिला को मान नाथ,
तेरी तलब में मत्था टेंकू,

बांधू धागे वट को, तलब में ,
तेरी चंद सिक्के नदी में फेंकू ,

और डाल आऊ हर पंछी,
को दाना तेरी तलब में,

दे दू प्राण भी सहर्ष मांगे,
जो ईश्वर तेरी तलब में

– @noddy_nobby

कुछ रूठना कुछ मनाना साथ करते हैं,
अब तो रात हो चुकी है चलो ना कुछ बात करते हैं।

– @the_silent_tales

तेरे रूठने पे भी मैं गया कहाँ था,
आज मनाने पे भी बहका कहाँ हूँ,
बातों की क्या बात पूछ रहे,
इन ख़ामोशयों में हम चुप कब थे…

– Ruthaaashiq.co

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

बातों बातों में आप क्या कह गए,
हल्का सा मुस्कुराया और अश्क भी बह गए,
ये बातों का सिलसिला कभी कम ना हुआ,
ना जाने कब आप और मैं हम गए |

– @mere.lafz17

वादों के बाजार के बाहर, तू भरोसा बन गया…
मन की कहानी का, तू सिंगार बन गया…
रीत रिवाज़ और कहानी के परे, एक जीने का सलिखा बन गया…
एक तू , एक मैं , सब झूठ- सिर्फ हम एक सच्चा एहसास बन गया..

– Ruthaaashiq.co

बनने का हर तो हर चीज बन गया,
लेकिन तू अब तक मेरा न बन पाया,
ये कैसा नाचीज़ बनाया ए ख़ुदा,
इंसान तो बनाया लेकिन इंसानियत क्यों ना बना पाया |

– @mere.lafz17

लड़कियों,
अच्छी हो तो बनी रहो,
बुरी हो तब भी बनी रहो
पर मत लादना कभी ख़ुद पर
बहुत अच्छी होने का
बेतुका, अनचाहा बोझ।

ये बोझ सोख लेगा
धीरे-धीरे तुम्हारे अंदर की ऊष्मा
और एक दिन
बिना कोई शिकायत किए
दम घुटने से हो जाएगी
तुम्हारी मौत।

– @noddy_nobby

सवाल पानी का नहीं प्यास का है, सवाल मौत का नहीं सांसो का है,
दोस्त तो बहुत है दुनिया मै, मगर सवाल दोस्ती का नहीं विश्वास का है।

– @mere.lafz17

इश्क़ की इस सुनामी में मुझे तेरे किरदार की ये झलक याद आएगी..
ना रहा वास्ता तेरी रूह से मुझे तेरी यादें मार जायेंगे…
एक शाम तेरे नाम

– @kuldip_tivari

खफा नहीं मैं – के वास्ता जिंदगी भर का नहीं रहा..
जो बात आज इस रास्ते पे की है- मेरी यादों को ब सराह नहीं पाउँगा मैं..

लोग तजुर्बा पूछते हैं, मेरी प्यार की लिखावटे पढ़कर….
कैसे बताता ये प्यार का नहीं, भूक का तजुर्बा है…
यह सड़क का वो भिकारी है, जो खाने का दाम जानता है…

– Ruthaaashiq.co

मैंने इश्क़ के गाँव जुल्म देखे है,
देखे है बहुत करीब से दुनिया है अमीरों की,
यहाँ कौन दिल लगाता है गरीब से…

– @raat_ka_humsafar

ये दुनिया की दिल्लगी भी क्या कमाल की लगती है,
नजाने कितनो के नज़रों में खटकती है,
मिल जाते है अमीर अक्सर हर राह चौराहे पर,
ये गरीब का दिल है जनाब कभी किसी को पैसे से नहीं तरसती है…

– @mere.lafz17

लो तराश लो तुम दस लोगों के बाजू रखकर,
मुझसे अच्छा तुम्हे कोई मिले तो मैं भी खुश हो जाऊं…

– Ruthaaashiq.co

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर अपनी मर्यादा में
रहना मुझे अच्छा लगता हैं।

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर रीति रिवाज़ो के चक्कर में
अन्धविश्वास मुझे अच्छा नहीं लगता

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर कुप्रथाओं के बोझ
तले दबना मुझे अच्छा नहीं लगता

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर सबके सामने क्रंदन
करना मुझे अच्छा नहीं लगता

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर बुजुर्गों का तिरस्कार
करना मुझे अच्छा नहीं लगता

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर मुझे टूट कर बिखर
जाना यूं अच्छा नहीं लगता ।

हां माना मैंने
मैं आज की नारी हूं
पर महिला दिवस पर मिलने
वाली एक दिन की आजादी मुझे
अच्छी नहीं लगती।

– @naharankita1

इन अंधेरों को क्या दोष देना,
जितने ये गहरे हुए- उतना ही उच्चा उठना सीखा हूँ..

– Ruthaaashiq.co

उनके सारे वहम दूर हो गए
वो आए,टकराए और चूर हो गए

– Sunny Potter

वो इस कदर हमसे टकराए की चूर हो गए,
गुस्ताख़ी ऐसी थी कि हमसे दूर हो गए,
दूरियां इस कदर बढ़ी की कुछ पता ही ना चला,
ना जाने कब आप और मैं इस बात के वहम मे रह गए |

– @mere.lafz17

मैं शान्त क्या ही होता,
मैं माफ क्या ही करता…
यहाँ जंग जारी है रोज,
आपस में, खुदमें-
लढनेकी तैयारी करनी है रोज..

– Ruthaaashiq.co

पहले बेवफ़ा ने लूटा
फिर वफादार ने लूटा
मेरे सारे जज़्बात उछाल दिए हवा में
ना जाने किसने क्या-क्या लूटा

– @pen.and.potter12

Shero shayari ka nasha hona ek alag hi saukh hain, to jin jin ko shero shayari karni ho yara padhni ho to voh hamara Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi join kar sakte hain jaha aapko bahot saari Whatsapp Status Shayari In Hindi milge usse aap share kar skte ho hamari whatsapp status ya instagram story main.

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

हमे अपनों ने लूटा
परायों मे कहा दम था,
हम जिसके इश्क़ मे डूबे
कमबख्त वो इश्क़ ही बदनाम था…

– @mere.lafz17

तुम्हारी गलतियों पर मैं माफी देता हूं,
पर तुमने मेरी मानसिकता को खराब कर दिया।
पता नही, मैं ठीक हो जाऊं;
पर उसके लिए मैं तुम्हें माफी नहीं दे सकता।
अभिराम बी

– redhunter_m16

जिंदगी की कुछ बातें बस एक कहानी है,
आज हर किसी को अपनी बातें यहां बतानी है,
और गलतियाँ अक्सर इंसान से ही होती है,
क्य़ा ये बात भी ज़माने भर को कहनी है।

– @mere.lafz17

जहाँ मैं खुद अपना नहीं,
तुझे क्या अपना बनाऊंगा…
ये मोहब्बत ही मेरी तेरे लिए,
तुझे चाहता हूँ, इसलिए साथ चाहता नहीं..

– Ruthaaashiq.co

मैं वापस ना आऊं कभी इस जंग से,
हस हस मरू तेरे गुलाबी रंग से,
यारों में बैर पड़ जाएगा,
गर तुम चलती रही इस ढंग से,
मैं तो क्या कोई उसकी कीमत नहीं बता सकता,
जो गहना लगा हो तेरे अंग से…

– Sunny Potter

उसके अंग संग ढंग की क्या बात करूँ मैं,
उसके नाम से मेरी कलम रुक जाती है अब क्या कहूँ मैं,
उसके मेरे बीच मे दूरियां कभी थी ही नहीं,
ना जाने अब रो रहा हूं क्यों मैं ..

– @mere.lafz17

चाहे कदमों में रख चाहे ताज बना,
चाहे सबको बता चाहे राज़ बना,
हम तो अपनी तरफ से तेरे हो गए।
तु कल चाहे हमें आज बना,
तु चाहे हमसे बात ना कर ।
तु चाहे हमें आवाज बना,
तेरे हाथ में है हमें खुश रखना ।
तु चाहे हमें नाराज़ बना …

– Sunny Potter

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

तरकीब हो गई, करतब भी कर लिए,
कुछ नया शोर है, कुछ नए सन्नाटे…
उठकर बिखर रहा हूँ,
बिखरकर उठ रहा हूँ…
जिंदगी के पल देख रहा हूँ,
या पल पल में जिंदगी को देख रहा हूँ..

तुझसा ही हूँ मैं,
काश तेरा भी हो जाता मैं…
टूटा है जहाँ से तू,
काश वहीं जुड़ जाता मैं…

– Ruthaaashiq.co

घुमता ही हूं मैं,,
काश तेरा शहर हो जाता…
टहलती है जहां से तू,,
काश वहीं थम जाता मैं

– @Dopanchi

बूँद बूँद बनकर बिखर गया हूँ मैं,
तेरे इश्क़ में कुछ ऐसा निखर गया हूँ मैं,
फना हो चूका हूँ मैं कब का अंदर से,
अरे वार जो हुआ था दिल पे प्यार के खंज़र से,
तुमसे मैं नाराज़ रहूँ ऐसा मेरा प्यार नहीं,
होगा तुम्हारा कोई और पर बदला मेरा प्यार नहीं,
टूटे दिल में आज भी तुम्हे ही बसा रखा हूँ,
भले ही टूटा है ये फिर भी तुम्हे सजा रखा हूँ,
जब भी तुम चाहो मुझे बस इशारा कर देना,
अभी भी तुम्हारा ही हूँ मुझे गैर मत कर देना

– @mere.lafz17

यू रुकने रुकाने की बात मत करो,
हमें तो दो पंछी बनकर फरार हो जाना है…
वो इश्क़ जो सड़कों में हैं,
सड़क सड़क में है,
वो हर सड़क, तेरे बगल में रहकर देखना है…

– Ruthaaashiq.co

दिन में कर ले, चाहे रात कर ले
उससे कहना एक बार मुझसे बात कर ले
दरिया में जितनी पानी की बूंदें
उतना प्यार करूंगा
वो‌ देख ले मेरी आंखों में
उसकी आंखों में डूब डूब मरूंगा
काश वो भी मेरे जैसे अपने जज्बात कर ले
उससे कहना एक बार मुझसे बात कर ले

– Sunny Potter

डूबता देख आया हूँ, जज़्बातों का सफर…
ये रात, ये दिन, ये साथ ज़हर सा हुआ चला है…
हाँ कोस लूँगा मैं तक़दीर को दो दफा,
तुझे दामन में पाकर, ये झूझ मैं नहीं चला सकता…

तेरे रूठने पे भी मैं गया कहाँ था,
आज मनाने पे भी बहका कहाँ हूँ,
बातों की क्या बात पूछ रहे,
इन ख़ामोशयों में हम चुप कब थे…

– Ruthaaashiq.co

उनसे तो हमसे नाम की मोहब्बत की थी
वरना हम तो पहले ही बदनाम थे

– @mere.lafz17

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

दीवारें बाँधकर दूर करते रहे हैं वो,
जब जब शरीक होने गया था मैं..
आज दूरी नापकर चल रहा हूँ,
तो फासलों की वजह मुझे बताये जा रहे हैं…

– Ruthaaashiq.co

ये जो जल के राख हो गया तेरी इश्क में,,,
कभी इसे हम खुद को वजूद कहा करते थे ,,

– @Kuldip_tivari

यादें कहाँ मिट पाती हैं, ये तो जज़्बात बदल जाते हैं…
आँसू तो आज भी टपकते हैं- वजह बदल जाती हैं…
ये वजूद ही तो उस शख्स का तुम्हारे दिल में,
दिल लिखी बातों में – उनके दिलमें न होने का ज़िक्र रहता है…

– Ruthaaashiq.co

अल्फ़ाज़ तो यूंही बर्बाद हुए तेरी तारीफों में,,,
एक शमा लग गई चांद को समझाने में,,
बेवफा लोग नहीं आते लौटकर,,,
ग़ालिब को एक अरसा लगा मुझे समझाने मे,,,।।

दीदार ए ख़ास थे तुम,तुमको दिल में बसाया था,,,
हार गया था सबकुछ,जब इश्क की होली खेल आया था ।

मेरा दर्द बंया करदे उस कलम की तलाश आज भी है।।
जो अधूरी रह गई बात उसकी नमी मेरी आंख मे आज भी है ।।

– @Kuldip_tivari

आज लौट आओगे तो क्या फिर मिलेंगे ?
ये सितम हो जाने के बाद ,
ये दिल में फिर वो ख्वाब खिलेंगे?
न तुझे, न कोई हिसाब माँगता हूँ..
कुछ जज़्बात का हिसाब हैं और मुझसे, बस इसलिए ज़िंदा हूँ..

– Ruthaaashiq.co

एक मुद्दत से हैरान हुईं ये दिल की धड़कने मुझे सोने नहीं देती,,,
कमबख्त तेरे दीदार की खुशबू मुझे जीने भी नहीं देती। ।।

– @Kuldip_tivari

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

कलम, आवाज़, इशारे क्या ढूँढे पगले,
सुनने वाला ही जब निकल गया है..

हर बार लिखावट क्या बदलना,
जब उस देश की बोली ही अलग है…

– Ruthaaashiq.co

मगरुर हुए थे जिस इश्क की वादियों में हम,,
उन वादियों में अब परिंदो का बसेरा ना रहा,,,
कभी आइना दिखाया करते थे लोगों को,,
आज खुद से ही मेरी रूह का वास्ता ना रहा,,।।।।

माफ कीजिएगा गम ए अल्फ़ाज़ का जोर ज्यादा हो गया,,
क्या करे आज सायरी से इश्क ज्यादा हो गया ।।

– @Kuldip_tivari

हँसी सी आती है, मुझे मुझपर ही…
तेरी पसंद मैं था, इस जुए में प्यार मैं कर बैठा हूँ…

– Ruthaaashiq.co

अलविदा लेता हूं,,
ये अल्फ़ाज़ नहीं मरहम हैं उस ज़ख्म का,
जो नासूर बनकर मेरे इस दिल को खोखला कर गया है ।।।

– @Kuldip_tivari

ये शायरियों का दामन भी क्या वफ़ादार है, उस एक दर्द से बुरा कुछ और लगने नहीं देता…
हाँ हो जाती जो मोहब्बत में, हर दिन आग के दरिये तय करने पड़ते थे..

रूठती नहीं कौनसी आशिकी ये बताओ,
मैं शायर फिर भी खुश नसीब हूँ, मेरी मोहब्बत – मोहब्बत में रोज मरते नहीं देखता…

– Ruthaaashiq.co

अब आजाइए आपके अल्फाजों को लेकर,,
हम बैठ गए है उनकी बेवफाई का हिसाब लेकर ।।

– @Kuldip_tivari

मुझको दुनियां के सामने यूं बदनाम करके
दिल अपना वो बहला लेता हैं
मोहबब्त उसने कभी देखी नहीं होगी
वरना अपनी महबूबा को यूं
भला बदनाम कौन करता हैं

– AKII

ये जो इश्क हुआ था हमें वो किश्तों वाला था,,
मेहबूबा होती तो निकाह पढ़ते वक्त सब ए दीदार में हम होते।
मगर किस्मत की नजाकत ये है कि हमारी महेबुबा के महबूब कोई और है ।।
बदनाम करना होता तो भरी महफ़िल में करते यूं अल्फाजों में दर्द बंया ना करते,,,,
अगर इश्क सच्चा होता उनका तो वो यूं रूठ के ना जाते मेरे जज़्बातो की कदर करते ।।।।

– @Kuldip_tivari

इसे किस्मत की नजाकत ना ही समझे तो बेहतर होगा
वो बेवफा थी उसे बेवफ़ा ही कहो तो बेहतर होगा।

– @naharankita1

हमसफर थे हमराज हुए जो कभी गैर होकर अपनो में शामिल हुए थे,,
वो आज भरी बाजार में लफ्जो के दर्मिया नीलाम हुए ।।।

– @Kuldip_tivari

आप कुछ बयां करो तो
वो आपका दर्द कहा जाए
और हम कुछ बयां करे तो
हम बेवफ़ा कहा जाए

– @naharankita1

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

अगर रुसवाई हमने भी की होती तो ये दर्द हमारे हिस्से को होता,,,
इश्क करके साझेदारी तो आपने हि की थी ना ।।

– @Kuldip_tivari

कौन अपना यहां
कौन पराया यहां
ये कैसे पता किया जाए

लोगों का क्या हैं
वो तो कुछ भी सुन लेते हैं
आज जो लोग आपके साथ खड़े हैं
कल वो मेरे साथ हुआ करते थे

हमने तुमसे बस इशक किया था
और तुम उसे साझेदारी समझ बैठे थे

– @naharankita1

थोड़ा रुक जाते अगर तो हालात कुछ और होते,,
ये जो सवाल उठ रहे तेरे दामन
पर ये और होते,,
जो हार गए तुम हम से जुदा होकर ,,
ये इश्क के मायने इस दौर में कुछ और होते,,

– @Kuldip_tivari

रुसवाई आपकी हो या हमारी
क्या फर्क पड़ता है
जब प्यार दोनों का हैं तो
दर्द किसी एक का कैसे हो सकता है

– @naharankita1

बेशक साझेदारी समझी क्यूंकि दिल ऐ नादान ने इश्क पहली दफा देखा था ।।
तेरी कान कि उस बाली की चमकती रोशनी में अनदेखा एक ख्वाब देखा था ।।

– @Kuldip_tivari

हम तो रुकने तो न जाने कब से बेताब थे
पर तुमने हमें दिल से रोकना ही नहीं चाहा था

– @naharankita1

जुदा अगर तुमसे हुए तो
हारना हमारा वाजिब ही था
प्यार अगर तुमसे हुआ तो
दिल हमारा टूटना वाजिब ही था

– @naharankita1

एक का था तभी तो तुम आज बेवफा कहलाती हो ।।
मुझे ख्वाबों में आकर क्यूं हर रोज जगाती हो ।।

– @Kuldip_tivari

पहली बारी तुमने isaq देखा
उसमें भी तुमने साझेदारी देखी
तो तुमने अब तक भला
Isaq देखा ही कहां

– @naharankita1

टूट कर अगर मायूसी होती तेरे चेहरे पर तो समझा लेते अपने वजूद को,,
हस्ते हुए जब तुमने अपनी शादी की रशमे निभाई खंजर लगा दिल को ।।

– @Kuldip_tivari

हमारे लिए तुम बेवफ़ा
और तुम्हारे लिए हम बेवफ़ा

मेरी बेवफाई में तुम्हें ख्वाब को आते हैं
और एक तुम्हारी बेवफ़ाई में हमें नींद तक नहीं आती

– @naharankita1

हम बेवफ़ा हरगिज़ न थे
पर हम वफ़ा कर ना सके
हमको मिली उसकी सज़ा
हम जो ख़ता कर ना सके।।😅

– @Kuldip_tivari

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

आप नींद की बात छोड़िए हम अगर हक़ीक़त में सामने आ जाए तो आप दीदार से इंकार करते है ,,,
और एक हम है कि आपकी यादों से आपकी बातों से आज भी ख्वाबों में इश्क का इजहार करते है ।।।

– @Kuldip_tivari

मैं एक बेटी हूं
परिवार की इज्जत अच्छे से जानती हूं
साथ ही मैं एक लड़की भी हूं
हंसकर दर्द छिपाना भी अच्छे से जानती हूं

– @naharankita1

रहने दे गालिब तू मरहम ना लगा पाएगा इस टूटे दिल के टुकड़े हजार है ।।
जब दम तोड़ देती है मोहब्बत तो बेवफाई के ये बहाने हज़ार है।

– @Kuldip_tivari

बस ये ही एक कारण था
जो हम साथ रह न पाए
गलती हमेशा किसी की भी हो
माफी हमेशा हम ही मांगते आए

– @naharankita1

आबरू से बढ़कर तुमने इश्क किया फिर उसी इश्क से पीछा छुड़ाने के लिए तुमने आबरू को लिया ।।

– @Kuldip_tivari

भरी महफिल में
मेरा इन्कार करना
तुमने अच्छे से देखा

पर हर रात में
तुम्हारे लिए तड़पती हूं
वो तुमने कभी नहीं देखा

– @naharankita1

माफी मांगना ज़ेहन में तो ना था मेरी मगर ये दिल की बाते पुरानी है,,
मनाले उसको उसका दीदार नूरानी है

– @Kuldip_tivari

मोहब्बत हमारी सच्ची हैं तो क्या अब्बा वाली मोहब्बत झूठी थी क्या
लाख वफा निभाने के बाद भी
तुम हमें बेवफ़ा कह देते हो
इतना प्यार करने के बाद भी
तुम हमें झूठा कह देते हो

– @naharankita1

रूबरू ना सही अल्फजो में तो दर्द को लाना पड़ेगा ।।
जो दर्द है सीने में उसको कहीं तो बाहर आना पड़ेगा ..

– @Kuldip_tivari

दर्द हो अगर सीने में
तो बता दिया करो ना

जब खुशी में साथ तुम्हारा दिया
तो दर्द में साथ ना कैसे देंगे भला

प्यार था य कुछ और पता नहीं हमें
पर हमारी तो हर रात उनके नाम हुआ करती हैं

– @naharankita1

`जब रूह हों खफा तब नहीं होते बंया दर्द हर दफा

मत गुजारो ओर राते तुम यूंही पागल हो जाओगे ,,
वो आएगा इस इंतजार में अल्लाह को प्यारे हो जाओगे,,

– @Kuldip_tivari

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

पागल तो हम उनके प्यार में हो गए थे
और वो वापस ना लौट आए मेरी ज़िन्दगी में
इसलिए उन्हें हम अपनी कसम दे बैठे

– @naharankita1

ये जो शाम आयी है फिर से क्या इसे जाने दिया जाए,,
या फिर से उस गुमनाम इश्क को याद किया जाए ।।।

– @Kuldip_tivari

उस गुमनाम इश्क़ को याद करने से अब तेरा क्या होगा,
वक्त के साथ जो बदल गया वो अपना क्या होगा |

– @mere.lafz17

गीला सिकवा करके ये दिल उसको याद करेगा,,
भूल जाऊंगा का उसको तो गालिब क्या बात करेगा ।।

– @Kuldip_tivari

ये गीला शिकवा बस दो वक्त का मरहम है,
जिंदगी में हर बस चार दिन की यह भी कोई कम है |

– @mere.lafz17

तुझे रूलाया ना ग़र वक़्त रात के
तो सनम आशिक हम किस बात के🙃

– @pen.and.potter12

में मिलता रहा तुम मुझे याद आते रहे,,,,
मै तड़पता रहा और तुम मुझे रुलाते रहे,
अपने मासूम बातों से मुझे तुम हर वक्त बहलाते रहे,
मेरी इस्क की नुमाइश कर जमाने से मुझे पागल कहेलाने रहे।।

– @Kuldip_tivari

हर नए वक्त आशिकों का दौर आया है,
खुदा कसम ये इश्क़ भी बस बदनाम करके गया है |

– @mere.lafz17

सफर जो ख़तम कर दिया उसने मुझे तन्हा छोड़ कर,,
उसे पूरा कोन करेगा ??
बनकर हमसफर वो तो चले गए जो लिया था मुस्कुराहट का कर्ज,,
उसे कोन भरेगा ??

– @Kuldip_tivari

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

ये तमन्नाओं को बोल दो, दूसरों से न जगे…
यहाँ खुद ही रोना है और खुद ही मुसकुराना है..

डर तो थामे रखनेका होता,
अब जब एक तर्फे ही मेरी मोहब्बत- तुम भी आज़ाद, और मैं भी…

– Ruthaaashiq.co

थे बेगाने से जिनके लिए हम कभी
जाने कैसे हमें अपना कहने लगे

हमने पा ली खुदा जैसी नजदीकियां
जबसे तुम हो मेरे पास रहने गे

हमको अपना बना के तु यूं चल दिया
जैसे पलकों के लग आंसू बहने लगे

शब के सितारे भी तुमको सजदे करें
जिस्म पे आके जब तेरे गहनें लगे

– Sunny Potter

कितनी बार तुझे बेवफा कहूँगा,
तकलीफ तो यह है, मुझे वफ़ा हो गई…
दुनिया जिसे मान ली थी मैंने,
किस दुनिया से अब तेरी बाते कहने जाऊँ मैं…

– Ruthaaashiq.co

एक बार और,
हो जाओ तुम करीब मेरे,
मैं थोड़ा सा अब भी आबाद हूँ…

– @pen. and.potter12

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

थामता ही क्या मैं तुझे,
फिर पलटकर..
करीब तो थे मगर दरवाज़े और दहलीज , सब गिने हुए थे…

– Ruthaaashiq.co

तेरी बातों का मुझपे असर हुआ
कुछ यूं
समझ नहीं आ रहा
तु ज्यादा अच्छी या तेरी रूह

– @pen.and.potter12

बहुत नाम मिले, ईनाम मिले…
हो क्या गई मोहब्बत तुझसे,
बस एक ही खुशी, तुझसे मेरा नाम मिले..

– Ruthaaashiq.co

कर के गैरों से यारी, हमसे दूर से हो गए
बस चूर से हो गए, नैन चूर से हो गए
दिल लाखों टूटते हैं, दसतूर से हो गए
तेरे नाम से जुड़ गए, अब सोचते ही रहते
बदनाम हो गए या मशहूर से हो गए

– @pen.and.potter12

सरेआम सारा आलम बदल गया है,
और नाम लापता सा…
दाग लग चुका है, दामन में मेरे,
फिर भी – तेरे इंतज़ार में अनछुवा सा..

– Ruthaaashiq.co

शोर तुझे छुकर हवाएँ करती हैं
आंखें मेरी दुआएँ करती हैं
आंखें पढ़ी लिखी नहीं , ये गवार तो भी
नाम तेरा रहती हैं पढ़ती
रंग तेरे सूट दा
रंग बुल्ला दा तेरे
ऐसा रंग दिल रंगया ए
रब कहंदा ए मलंग
कुज होर वी ता मंग
वे मैं एतकी वी तेनू मंगया ए

– @pen.and.potter12

ऐसी किती मोहब्बत तेरे नाल मैंने,
तुझे चाहा, तेरा साथ न चाहा मैंने…
टूटते वेख मेरी किस्मत दा प्यार,
किस्मत दे पहले तेनु मुझसे जुड़ा कर दिया मैंने…

– Ruthaaashiq.co

तुम क्या जानो तड़प क्या होती है,
तुम क्या जानो,
तुम क्या जानो धड़क क्या होती है,
तुम क्या जानो,
कभी इश्क़ किया हो तो जानो,
कभी दिल धड़का हो तो जानो,
कभी ज़ख्म सहा हो तो जानो,
तेरी आदत दिल को तोड़ो
और अश्क़ को बहने दो…

एक वजह तो दे मेरे यारा,
तुझे अपना कहने को,
कोई वजह तो दे मेरे यारा,
तुझे अपना कहने को,

यूँ ना समझो यारा
के उदासी है,
ये तन्हा रातें भी अब खुदा सी हैं,
कोई नया सा किस्सा लगती हैं,
मेरे जिस्म का हिस्सा लगती है,
बुनियाद नहीं तो हवा ही सही,
किसी घर को देहने को…

एक वजह तो दे मेरे यारा,
तुझे अपना कहने को,
कोई वजह तो दे मेरे यारा,
तुझे अपना कहने को,

इश्क़ नहीं तेरी जिस्मानी आग है सनम,
नूर नहीं बच शायरों के मुँह पे दाग है सनम,
कभी जिस्म से लिपटे थे मेरे और आज मुझे पहचानो ना,
सीने से लगाया मतलब से खुदगर्ज़ हो तुम ये मानो ना,
कोई पनाह बता,
तेरी तड़पायी रूह को रहने को..

एक वजह तो दे मेरे यारा,
तुझे अपना कहने को,
कोई वजह तो दे मेरे यारा,
तुझे अपना कहने को…

– @pen.and.potter12

Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi
Whatsapp Group Shero Shayari In Hindi

Download Image

हर किसी का खयाल मुझे, ये देख मुझसे क्या मोहब्बत कर ली तूने…
मैं अपना नहीं हुआ सबके पीछे, तेरा क्या होना आता मूझे..

– Ruthaaashiq.co

हमें रूलाते हैं और
औरों को हसाए
ऐसा नहीं होता है प्यार में
कोई जाए उन्हें मोहब्बत सिखाए

– @pen.and.potter12

वो आया था जलाने मुझे उसकी बाहों में आकर,
मेरी मोहब्बत ऐसी – मैं आ गया उसे दुआएँ देकर..

– Ruthaaashiq.co

हम अभी सूरज से बात कर के आते हैं
सुबह हो रही है हम फिर से रात कर के आते है

– @pen.and.potter12

न सपना, न उम्मीद तेरी,
ये रातों को नजाने क्या ज़िक्र है तेरा…
न पुकार सकू, न बता सकू किसीसे,
जगा तू ऐसे मुझमे, अरसों जैसे मैं सोया नहीं..

ये मोहब्बत का कारोबार जरूर करना दोस्तों,
बस खयाल रहे – हर सुबह बस शुरुआत खुदसे हो…

– Ruthaaashiq.co

एक बार करके तो देखों-
साथ निभाने की बात तुम सरेआम करके तो देखो
इश्क़ भी मुक्कमल हो जाएगा ये बात करके तो देखो,

इश्क़ में क्या मिलेगी वो वक़्त ही बतायेगा
अगर इश्क़ किया है तुमने तो मेरा हाथ भरी महफ़िल में मांग करके तो देखो,

इश्क़ तेरे साथ जिंदगी भर बेशुमार रहेगा
कभी इस मुश्किल रास्तों में आगे बढ़ के तो देखो,

अगर भरी महफ़िल में तुमने मेरा हाथ मांग लिया
खुदा कसम जिंदगी भर साथ होगा तुम्हारा ये बात पहले करके तो देखो |

– @mere.lafz17

“whatsapp group shero shayari in hindi “ ka ye badaa collection, new way me humne present kiya hai. “shareo shayari in hindi” ka ye naya andaaz apko kaisa laga ye hume jarur bataaye. Ye theme humne open for creativity rakha hai toh agar aap as audience kuch suggest karna chaahe ya apne hisaab ka kuch naya content post karna chaahe toh ye “ whatsapp status Shayari In Hindi” ke saath apne ore se bhej sakte hai. “shero shayari whatsapp group link” ke liye agar koi confusion hai toh humaare whatsapp button me DM karke bhi aap humse poooch sakte hai.

Spread The Love

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *